Sunday, September 26, 2010

कंधे के ऊपर उठो : एक कविता बेटी के लिए

अपनी ताई के साथ पूजा और आस्‍‍था

उठो,गिरो फिर उठो
यह खड़े होने की
जद्दोजहद है मेरी बेटी 

घुटने के बल चलने से
बेहतर है उठो
चलो और दौड़ो 

जो दौड़ता नहीं वह
पिछड़ जाता है
खड़े हो और आसमान
की तरफ उठाओ हाथ 

परिंदों को बुलाओ, वे
तुम्हारे साथ होना चाहते हैं 

यह धरती लड़ाई का
मैदान है मेरी बेटी
जिन्दगी की लड़ाई लड़ो
और जीतो

अपने कंधे के ऊपर
उठो
उठोगी,तो तुम्हा़रे सामने
झुक जाएगा आसमान
                   0 स्‍वप्निल श्रीवास्तव
( फोटो में देवर-देवरानी अनिल-रानी की बेटियां हैं। कविता 'नया ज्ञानोदय ' अक्‍टूबर,2006 से साभार।)

14 comments:

  1. यथार्थ को दर्शाती पंक्तियाँ ....

    ReplyDelete
  2. पहले थीं अभिशाप बेटियां आज बनी वरदान बेटियां
    डाटर्स डे दिवस की बहुत बधाई....

    ReplyDelete
  3. अपने कंधे के ऊपर
    उठो
    उठोगी,तो तुम्हा़रे सामने
    झुक जाएगा आसमान
    अतिसुन्दर भावाव्यक्ति ,...... बधाई के पात्र है

    ReplyDelete
  4. आपकी रचनात्मक ,खूबसूरत और भावमयी
    प्रस्तुति कल के चर्चा मंच का आकर्षण बनी है
    कल (27/9/2010) के चर्चा मंच पर अपनी पोस्ट
    देखियेगा और अपने विचारों से चर्चामंच पर आकर
    अवगत कराइयेगा।
    http://charchamanch.blogspot.com

    ReplyDelete
  5. सिर तो कंधे के उपर ही है लेकिन यह याद दिलाना, हौसला आफजाई जरूरी होता है.

    ReplyDelete
  6. घुटने के बल चलने से
    बेहतर है उठो
    चलो और दौड़ो
    bahut badhiyaa

    ReplyDelete
  7. अपने कंधे के ऊपर
    उठो
    उठोगी,तो तुम्हा़रे सामने
    झुक जाएगा आसमान......
    बहुत प्रेरणादायक भावपूर्ण अभिव्यक्ति .......

    ReplyDelete
  8. वाह....
    हृदयस्पर्शी बहुत बहुत सुन्दर...

    ReplyDelete
  9. उठोगी,तो तुम्हा़रे सामने
    झुक जाएगा आसमानbahut sahi salah hai betiyon ke liye....

    ReplyDelete
  10. घुटने के बल चलने से
    बेहतर है उठो
    चलो और दौड़ो
    और

    अपने कंधे के ऊपर
    उठो
    उठोगी,तो तुम्हा़रे सामने
    झुक जाएगा आसमान......
    ........प्रेरणाप्रद भावपूर्ण अभिव्यक्ति .......

    ReplyDelete
  11. वाह!!!बहोत ही सुंदर रचना है आपकी!!
    अपने कंधे के ऊपर
    उठो
    उठोगी,तो तुम्हा़रे सामने
    झुक जाएगा आसमान......

    ReplyDelete
  12. आपके ब्लॉग पर आकर अच्छा लगा. हिंदी लेखन को बढ़ावा देने के लिए आपका आभार. आपका ब्लॉग दिनोदिन उन्नति की ओर अग्रसर हो, आपकी लेखन विधा प्रशंसनीय है. आप हमारे ब्लॉग पर भी अवश्य पधारें, यदि हमारा प्रयास आपको पसंद आये तो "अनुसरण कर्ता" बनकर हमारा उत्साहवर्धन अवश्य करें. साथ ही अपने अमूल्य सुझावों से हमें अवगत भी कराएँ, ताकि इस मंच को हम नयी दिशा दे सकें. धन्यवाद . आपकी प्रतीक्षा में ....
    भारतीय ब्लॉग लेखक मंच
    माफियाओं के चंगुल में ब्लागिंग

    ReplyDelete

आप यहां आए शुक्रिया। क्षमा करें,मैं अभी कम्‍प्‍यूटर से बहुत अधिक परिचित नहीं हूं। मैं प्रयत्‍न करूंगी कि आपके ब्‍लाग पर आऊं। पर हो सकता है अभी अपनी टिप्‍पणी दर्ज न कर पाऊं। आप अपनी चुनी हुई निबोलियों के लिए कुछ शब्‍द यहां दर्ज करते जाएं...